कब्ज में रामबाण है ये फल, आंतो से खींच लेते हैं फंसा हुआ मल।

कब्ज, एक गंभीर समस्या है जिससे अक्सर बहुत से लोग पीड़ित रहते हैं। कब्ज होने पर आपको पेट में दर्द सूजन और अन्य समस्याएं हो सकती है। कब्ज की समस्या से मल त्यागने में दिक्कत आती है और पेट भी ठीक तरह से साफ नहीं होता है। जिससे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। चलिए जानते हैं कब्ज होने के कारण का।
कब्ज होने का कारण।
कब्ज के कई कारण हो सकते हैं जिनमें सबसे प्रमुख कारण सही डाइट नहीं लेना। समय का खाना नहीं खाना, एक्सरसाइज आप किसी तरह की फिजिकल एक्टिविटी नही करना, पूरी नींद नहीं लेना और तनाव में रहना।
कब्ज का इलाज और घरेलू उपाय
डॉक्टर के अनुसार कब्ज का इलाज नहीं करा नेपाल गंभीर रुप ले सकता है जिससे आपको बवासीर फिशर और यहां तक आंतों का कैंसर जी हो सकता है। मेडिकल में कब्ज के कई इलाज है लेकिन कुछ हाल भी है जिनके सेवा से आपको कब्ज को तोड़ने और ठीक करने में मदद मिल सकती है।
केला।   फाइबर से भरपूर किले का उपयोग लंबे समय से कब की घरेलू उपचार के रूप में किया जा सकता है। पता हुआ केला खाने से बाउल सिंड्रोम मैं सुधार होता है, और छोटी आंत में मौजूद माइक्रो बिल्ली को अच्छे से काम करने में मदद मिलती है। इसे पाचन बेहतर होता है और कब्ज से राहत मिलती है।
संतरा,।  संतरा फाइबर और विटामिन सी का एक बढ़िया स्रोत हैं। संतरे को रेचक प्रभाव के लिए जाना जाता है। कब्ज में आपको साबुत संतरे खाने चाहिए क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में फाइबर होते हैं। संतरे में ये के जो भी होता है जिसे कब्ज को सही करने में मदद मिल सकती है।
कीवी फल,।   कीवी विटामिन सी से भरपूर फल है और यही वजह है कि यह कब्ज के लिए बेस्ट फ्रूट है। इसके अलावा इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर और पानी होता है जो कब्ज को ठीक करने के लिए जरूरी है। Tv फल में पाए जाने वाला एक अनजान भी कब्ज को मदद करता है।
नाशपाती,।  नाशपाती में ना केवल साइबर फ्रुक्टोज और सोरबिरटोल जैसे तत्व भी पाए जाते हैं। इसके रेचक प्रभाव पड़ता है और यही वजह है कि इसे कब्ज की समस्याओं के लिए बढ़िया फल माना जाता है। सोरबिटोल मल को मुलायम करने का काम करता है।
सेव,।   सेव एक ऐसा फल है जो कब्ज के साथ-साथ दस्त में भी राहत दिलाने में मदद करता है। सेव को छिलके सहित खान की सलाह दी जाती है। छिलके में आज घुलनशील फाइबर होता है और मल त्याग को बढ़ावा दे सकता है। इसमें घुलनशील फाइबर भी होता है, खासकर पेक्टिन नमक फाइबर जो की कब्ज को ठीक करने का काम करता है।
पपीता,।  पपीता फाइबर से भरपूर और कम कैलोरी वाला फल है। इसमें पानी की मात्रा भी ज्यादा होती है। यह मल त्याग को बढ़ावा देता है। इसमें पॉपीन नमक के एक ऐसा एंजाइम होता है जो पाचन को दुरुस्त करता है। आप पपीता को हमेशा चिया बीज के साथ खाएं। यह फल भी कब्ज में राहत देते हैं।
आपको यह भी पसंद आ सकता है,सुबह-सुबह चिया बीज खाने के फायदे

Jagdish Ray

मैं जगदीश यादव मूल रूप से बिहार के रहने वाला हूं। मैं अपनी इस साइट पर सरकारी नौकरी तथा प्राइवेट नौकरी की जानकारी सबसे पहले देता हूं। रोजगार की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमें फॉलो करें क्योंकि नौकरी की खबर सबसे पहले आप तक पहुंच सके।

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for

और नया पुराने