इस पेड़ का पत्ता 24 घंटे में शुगर लेवल को नियंत्रित करता है, देखें इसके सेवन के तरीके।

शुगर के बीमारी को डायबिटीज मेलिटस कहते हैं। आम भाषा में इसे मधुमेह भी कहा जाता है। यह बीमारी अक्सर बढ़ती हुई उम्र में हो जाता है। कुछ लोग तो यह भी कहते हैं कि यह बीमारी छुट्टी नहीं है।लेकिन अगर जीवन शैली में बदलाव के साथ-साथ खानपान पर ध्यान दिया जाए तो शुगर की बीमारी खत्म हो सकती है। दोस्तों आज मैं इस आर्टिकल में शुगर की बीमारी को कंट्रोल में करने के लिए कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं। अगर आप जीवन शैली में बदलाव के साथ-साथ खानपन पर ध्यान रखेंगे तो ठीक भी हो सकता है।
मधुमेह होने का प्रमुख कारण।
1, अनुवांशिक के गुण, अगर आपके परिवार में किसी को मधुमेह की बीमारी है तो यह बीमारी किसी दूसरे व्यक्ति को भी हो सकता है। अगर आपके पूर्वज को दादी की था तो आपको भी होने की संभावना हो सकती है।
2, अनियमित खानपान, अनियमित खानपान और रहन-सहन के वजह से भी यह बीमारी हो जाती है।
3, मोटापा के कारण, अगर आपका वजन बहुत ज्यादा बढ़ गया है तो डायबिटीज होने का खतरा भी बढ़ जाता है। अक्सर ज्यादा वजन वाले व्यक्ति को डायबिटीज हो जाता है।
4, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज होने का यह भी एक मुख्य कारण है जिस व्यक्ति का ब्लड प्रेशर हाई होता है उसे अक्सर डायबिटीज यानी कि मधुमेह हो जाता है।
5 ज्यादा उम्र का होना, डायबिटीज की बीमारी अफसर उमर दराज व्यक्ति को ही होता है। अगर आपका उम्र ज्यादा हो गया है तो आपको यह बीमारी हो सकती है। अगर जीवन शैली सही नहीं है और खान-पान सही नहीं है तो आप इस बीमारी के शिकार हो सकते हैं।

डायबिटीज के मुख्य लक्षण।
डायबिटीज के मुख्य निंलिखित लक्षण होते हैं।
1, ज्यादा प्यास और भूख लगना, जो व्यक्ति डेबिट डायबिटीज के बीमारी से ग्रसित है उसे ज्यादा प्यास और भूख लगती है।
2, पेशाब बार बार आना, मधुमेह के रोगी को बार बार पेशाब आता है। उसे हिसाब करने के लिए रात में कई बार जागना पड़ता है।
3, थकान और कमजोरी, जिस व्यक्ति को डायबिटीज है उसे जल्दी थकान महसूस होने लगता है। वह शरीर से भी कमजोर हो जाता है।
4, त्वचा संक्रमण, जिस व्यक्ति को डायबिटीज का बीमारी होता है उसे त्वचा पर खुजली और सूजन जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।
5, चक्कर आना, जो व्यक्ति डायबिटीज से ग्रसित है उसे बैठ कर उठने पर चक्कर आने लगता है।
डायबिटीज को ठीक करने के लिए घरेलू उपाय के कुछ प्रभावी तरीके हैं, लेकिन ये सिर्फ जीवन शैली में बदलाव के साथ सही समय पर करने से मदद करते हैं।
1, तूत की पेड़ की पत्ती
इस पेड़ की पत्ती का सेवन करने से शुगर लेवल बहुत जल्दी कंट्रोल में हो जाता है। अगर इसका नियमित रूप से उपयोग किया जाए तो कुछ ही दिनों में आपक डायबिटीज
 बिल्कुल नॉर्मल हो जाएगा।
सेवन विधि,
प्रातः काल नित्य क्रिया कर्म से निवृत्त होकर आप इस पेड़ की पत्ती को चबा चबा कर खाएं। 5 से 6 बतिया तोड़े और इसे जमा करके खा जाएं। हां यह प्रयोग खाली पेट एक करना है।
मेथी के बीज, शुगर को कंट्रोल करने के लिए आपको मेथी के बीज को रात भर पानी में भिगोकर रख दें। सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से डायबिटीज बहुत कंट्रोल में रहता है।
जामुन का बीज, मधुमेह को कंट्रोल में करने के लिए जामुन का बीज भी बहुत फायदेमंद  होता है,। जामुन के बीज को खाकर उसका पाउडर बना लें। इस पाउडर को एक गिलास पानी में मिलाकर सुबह खाली पेट सेवन करें। कुछ ही दिनों में आप देखेंगे कि आपका शुगर लेवल नॉर्मल हो गया है।
करेले का रस,। डायबिटीज के मरीजों को करेला का रस का सेवन करने से शुगर लेवल नियंत्रित रहता है। करेले का रस से सुबह खाली पेट सेवन करने से डायबिटीज के बिल्कुल कंट्रोल में रहता है।
अदरक और लहसुन,। डायबिटीज के मरीजों को अदरक और लहसुन का सेवन करने से इंसुलिन की मात्रा बढ़ती है तथा मधुमेह नियंत्रण में रहता है।
Disclaimer, डायबिटीज के मरीजों को इन चीजों का सेवन करने के साथ-साथ अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेना चाहिए। डॉक्टर के उचित देखरेख में अपना शुगर लेवल जरूर चेकअप कराते रहें।
आपको यह भी पसंद आ सकता है,15 मिनट में दही जमाना सीखें

Jagdish Ray

मैं जगदीश यादव मूल रूप से बिहार के रहने वाला हूं। मैं अपनी इस साइट पर सरकारी नौकरी तथा प्राइवेट नौकरी की जानकारी सबसे पहले देता हूं। रोजगार की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमें फॉलो करें क्योंकि नौकरी की खबर सबसे पहले आप तक पहुंच सके।

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for

और नया पुराने