डायबिटीज से छुटकारा पाना है तो ये दो आसन प्रतिदिन करें और दवाइयां से मुक्ति पाए।

अनियमित खान पान और जीवन शैली के कारण आज 100 में से 90 फ़ीसदी लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं। कहां जाता है कि डायबिटीज दवाई खाने से ही कंट्रोल में रहता है। लेकिन मैं आपको कुछ आसान के बारे में बताने जा रहा हूं जिसे प्रतिदिन करने से डायबिटीज कंट्रोल में तो रहता ही है साथ में साथ खत्म भी हो सकता है। आपको पता होगा कि जो व्यक्ति डायबिटीज से पीड़ित है उसके शरीर में इंसुलिन काम बनने लगता है तथा रक्त शर्करा बढ़ने लगता है। इसे इंसुलिन को योगासन के द्वारा बढ़ाया जा सकता है। आज मैं आपको दो ऐसे आसन बताऊंगा जिसे प्रतिदिन करने से आपके शरीर में इंसुलिन की मात्रा सही रहेगी और डायबिटीज बिना दवाई का कंट्रोल में रहेगा।

डायबिटीज में आमतौर पर शरीर के रक्त शर्करा (ग्लूकोज) का संबंधित तत्व बढ़ता है। इसे हाइपरग्लाइसीमिया कहा जाता है और यह इंसुलिन के प्रभाव को कम कर सकता है, जिससे रक्त शर्करा उच्च हो जाता है

धनुर आसान।
प्रतिदिन धनुरासन करने से शरीर में इंसुलिन की मात्रा सही रहता है और डायबिटीज कंट्रोल में रहता है क्योंकि डायबिटीज में इंसुलिन बना काम हो जाता है।
धनुरासन करने का तरीका।
धनुरासन करने के लिए आपको जमीन पेट के बल लेटना होता है। अब धीरे-धीरे अपने पैरों को पीछे से उठाएं। अब अपने पैरों के तकनियों को हाथों से पकड़े तथा धीरे-धीरे पीछे से ऊपर उठाएं। हाथों को टाइट करें और पैरों को धीरे-धीरे ऊपर उठाएं। इस पोजीशन में थोड़ी देर रूके। इस तरह आप धनुरासन कर सकते हैं।

मंडूकासन
मंडूक आसन करने के लिए आपको अपने पैरों के तलवे के ऊपर बैठना होता है जिसे वज्रासन कहा जाता है। वज्रासन में बैठ जाएं और लंबी सांस खींचे। अब अपने दोनों हाथों को मुट्ठी बांधे तथा ध्यान रखें कि अंगूठा अंदर की तरफ हो। अब अपने दोनों हाथों के मुट्ठी को नाभि में लगाए। दोनों मुट्ठी को नाभि में लगाकर धीरे-धीरे आगे की तरफ झुके। जहां तक झुक सकते हैं झुकी और इस पोजीशन में थोड़ी देर रूके। ऐसा नियमित रूप से करने से आपके शरीर में इंसुलिन सही मात्रा में बनने लगता है जिसे डायबिटीज कंट्रोल में रहता है। इन दो आसनों को करने से डायबिटीज बिना दवाई के कंट्रोल में रहेगा और ठीक भी हो सकता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.