क्या आपके भी हथेली और पैर के तलवे पर पसीना आता है, तो देखें कारण और घरेलू उपचार/hatheli per pasina aane ka Karan aur gharelu upchar.

हथेली और पांव के तलवे पर पसीना आने का कारण और घरेलू उपचार।
बहुत से लोगों के हाथ के हथेली और पैर के तलवे पर पसीना आता रहता है। हथेली या पांव के तलवे पर हमेशा पसीना आना किसी बीमारी का सूचक हो सकता है। वैसे तो हथेली या पांव के तलवे पर पसीना अत्यधिक के गर्मी के कारण भी होता है। आज हम बात करेंगे की हथेली पर पसीना आए तो उसके क्या कारण हो सकते हैं।
हथेली पर पसीना आने का कारण।
1 अगर आप तनावपूर्ण या आशुविधा जनक स्थिति में है तो आपकी हथेलियां पर पसीना आ सकता है। चिकित्सकों के अनुसार चिंता के कारण भी कई लोगों को हथेलियां पर पसीना आने लगता है।
2, शरीर में अचानक के अंडरलाइन हार्मोन बढ़ने से हथेलियां पर पसीना आने लगता है। यह आपके शरीर की कथित खतरे के प्रति प्रतिक्रिया के परिणाम स्वरुप होता है।
3, ग्राम मौसम भी आपकी हथेलियां पर पसीने का अहम कारण हो सकता है। लहसुन प्याज और मसालेदार भोजन जैसे खाद्य पदार्थ से पसीने की ग्रंथियां को ट्रिगर करते हैं।
4, लहसुन प्याज और मसालेदार भोजन जैसे खाद्य पदार्थ पसीने की ग्रंथियां को ट्रिगर करते हैं। इसके अलावा मदिरा पान और धूम्रपान करने से आपकी हथेलियां साहित्य के सीने की ग्रंथियां उत्तेजित हो जाती है।
5, यदि आपकी थायराइड विकार पीसी ओ से या कोई अन्य हार्मोनल समस्या है तो भी हथेलियां पर पसीने का कारण हो सकती है। m यदि व्यवस्था में पसीना आना शुरू हो गया है तो इसकी जांच करानी चाहिए और थायराइड के स्तर का परीक्षण करना चाहिए।
6, बुखार भी हथेली पर अत्यधिक पसीना आने का कारण बन सकता है। यदि यह कारण आप पर लागू नहीं होता तो हाइपरटाइटोसिस से जैसी कुछ अंत निर्मित स्वास्थ्य स्थितियां हो सकती है।
7, इस बीमारी का इलाज आसानी से किया जा सकता है।

हथेली पर पसीना आने का घरेलू उपाय।
1, बेल का पत्ता,   भील का पत्ता का तहसील काफी ठंडा होता है। पसीना आने का मुख्य कारण शरीर में गर्मी का बढ़ना होता है। इसलिए बेल के पत्ते का सेवन प्रतिदिन किया जाए तो हथेली पर पसीना आना बंद हो सकता है।
सेवन विधि,    बेल के पत्ते को घुट कर गोली बना ले या पानी मिलाकर सुबह और शाम सेवन करें। हथेलियां पर पसीना आना बंद हो सकता है।
पीपल के पत्ता का सेवन,   पीपल के पत्ता भी ठंडा तासीर का होता है। इसलिए पीपल के पत्ता का सेवन करने से हथेली या पांव के तलवे पर पसीना आना बंद हो सकता है।

पीपल के पत्ते को सेल पर पीसकर गोली बना ले। एक गोली सुबह और शाम प्रतिदिन खाएं पसीना आना बंद हो जाएगा। इस पत्ते को पानी मिलाकर भी पिया जा सकता है।

शीशम का पत्ता,   शीशम का पत्ता भी ठंडा तासीर का होता है इसलिए हथेली पर पसीना आने पर इस पत्ते का सेवन किया जा सकता है।
शीशम के पत्ते को सिल्वर पर पीसकर गोली बना ले या पानी में घोलकर प्रतिदिन सुबह और शाम सेवन करने से पसीना आने की समस्या खत्म हो जाएगी।

Disclaimer,    अत्यधिक पसीना आने पर जरूरी है कि जल्द से जल्द चिकित्सक से परामर्श लें। मेरा यह आर्टिकल केवल एक परामर्श है किसी डॉक्टर या चिकित्सक का राय नहीं है। इसलिए अत्यधिक के पसीना आने पर किसी योग्य चिकित्सक से राय जरूर लें।
आपको यह भी पसंद आ सकता है,जाने दाढ़ी रखने के फायदे और नुकसान।

Jagdish Ray

मैं जगदीश यादव मूल रूप से बिहार के रहने वाला हूं। मैं अपनी इस साइट पर सरकारी नौकरी तथा प्राइवेट नौकरी की जानकारी सबसे पहले देता हूं। रोजगार की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमें फॉलो करें क्योंकि नौकरी की खबर सबसे पहले आप तक पहुंच सके।

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for

और नया पुराने